Browse By

Category Archives: Culture

छठपर्व पर भी लगा सकती है बैन सरकार?

प्रकृति-पूजोपासना का महापर्व छठ बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश और झारखंड में मनाया जाने वाला एक लोक-आस्था का त्योहार है, मगर इस पर्व को मनाने के पीछे जो दर्शन है, वह विश्वव्यापी है। शायद यही कारण है कि प्रवासी पूर्वाचलियों के इस पर्व के प्रति लोगों

Text of PM’s speech at foundation stone laying ceremony of Kedarpuri Reconstruction Projects in Kedarnath, Uttarakhand

मेरे साथ पूरी ताकत से बोलिए, जय जय केदार। देवभूमि उत्तराखंड का सभी भाई-बहनों ते मेरा सादर नमस्‍कार। बाबा केदार को आशीर्वाद सबु पर बनियो रहो, इन्‍ही कामना छै। कल ही देश और दुनिया में दीपावली का पावन पर्व मनाया गया। इस दीपावली के पावन

प्रधानमंत्री ने केदारनाथ का दौरा किया; कई परियोजनाओं की आधारशिला रखी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज केदारनाथ का दौरा किया| उन्होंने केदारनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की और पांच आधारभूत संरचना और विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखी| इन परियोजनाओं में मंदाकिनी नदी के किनारे दीवार और घाट का विकास, सरस्वती नदी के किनारे दीवार और घाट

Get Lucky With The Help of Lucky Bamboo

Writer, Vaishali Agrawal is living in India. Vaishali Agrawal is part of our authors community since Oct 17, 2017 and has published Second posts on YD. Read His First On YD, Online Flower Delivery In Ahmadabad Made Easy Lucky bamboo is a plant that is said to bring

Online Flower Delivery In Ahmadabad Made Easy

Flowers are most classical gifts that one could gift someone. From roses to daisies to carnations, there are several flowers to choose from. Carnations are generally symbolic of love and fascination. Chrysanthemums commonly referred to as mums, generally stand for friendship, love, and joy. Distinguished

वर्ल्ड रिकॉर्ड, 1.87 लाख दीयों की रोशनी से जगमगाई अयोध्या

जय श्रीराम के गगनभेदी नारों और हेलीकाप्टर से की गई पुष्प वर्षा के बीच मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम की नगरी अयोध्या आज एक लाख 71 हजार दीपक प्रज्जवलित कर गिनीज बुक आफ वल्र्ड रिकार्ड में दर्ज हो गई। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने

वाल्मीकि जयंती और वाल्मीकि समाज

देश की आजादी की लड़ाई लड़ रहे हमारे पूर्वजों को अपने संघर्ष में उसी समय सफलता मिली जब, आजादी के लिए लडऩे वालों ने जन साधारण के सामने आजाद भारत में रामराज्य की स्थापना का लक्ष्य रखा। उस लक्ष्य की प्राप्ति हेतु भारतीय संविधान में

Swachhta Hi Seva Campaign, IAS V.Srinivas

On September 15, 2017, the President of India launched a nationwide sanitation campaign “Swachhta Hi Seva” at Iswarganj village in Kanpur. The President administered the Swachhta Hi Seva Pledge whereby the Nation resolved to create a clean healthy and new India. Addressing the gathering the

‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान

लेखक, वी. श्रीनिवास 1989 बैच के आईएएस ऑफिसर है जो वर्तमान में राजस्थान टैक्स बोर्ड के अध्यक्ष के तौर पर कार्यरत हैं। लेख में व्यक्त विचार उन के निजी हैं। राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने 15 सितंबर, 2017 को कानपुर जिले के ईश्वरगंज गांव

YD Chat