Youth Darpan December 5, 2017
छठे अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यटन हाट का कल  गुवाहाटी में शुभारंभ
छठे अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यटन हाट (आईटीएम) के आयोजन का शुभारंभ आज गुवाहाटी, असम में हो रहा है। पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार, पूर्वोत्तर राज्य के सहयोग से 5 से 7 दिसंबर, 2017 तक इस हाट का आयोजन कर रहा है। असम के राज्‍यपाल श्री जगदीश मुखी, असम के मुख्‍यमंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल, केंद्रीय पर्यटन सचिव श्रीम‍ती रश्मि वर्मा और केंद्रीय मंत्रालयों तथा पूर्वोत्‍तर राज्‍यों के गणमान्‍य अतिथियों की उपस्थित में इसका उद्घाटन करेंगे।

छठे अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यटन हाट से भारत की ‘’एक्‍ट ईस्‍ट पॉलिसी’’ पर ध्‍यान केंद्रित होने के साथ-साथ आसियान तथा दुनिया के सबसे तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्‍यवस्‍थाओं के गृह विशाल पूर्व एशिया क्षेत्र के साथ संबंध सुदृढ़ करने तथा भारत में उभरते हुए पर्यटन बाजार पर भी ध्‍यान केंद्रित होगा। पूर्वोत्‍तर राज्‍यों में पर्यटन को प्रोत्‍साहन देने पर विचार-विमर्श के साथ-साथ ‘एक्‍ट ईस्‍ट पॉलिसी’ के उद्देश्‍यों के तहत एशियान क्षेत्र के देशों के साथ लोगों के बीच आपसी संपर्क बढ़ाने के साथ-साथ इन देशों के साथ पूर्वोत्‍तर राज्‍यों का संपर्क अधिक बढ़ाने पर ध्‍यान केंद्रित किया जाएगा। इससे एशियान और पूर्वोत्‍तर राज्‍यों के बीच अंतर-क्षेत्रीय पर्यटन को विकसित करने में मदद मिलेगी। आईटीएम 2017 में पूर्वोत्‍तर राज्‍य विकास मंत्रालय द्वारा भी सक्रिय भागीदारी निभायी जाएगी, जिससे पूर्वोत्‍तर राज्‍यों में पर्यटन के विकास की प्रक्रिया को गति प्रदान की जा सके।

छठे अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यटन हाट के आयोजन का उद्देश्‍य क्षेत्र में पर्यटन की संभावना को घरेलू और अंतर्राष्‍ट्रीय बाजार के सामने प्रस्‍तुत करना है। समारोह से पूर्वोत्‍तर राज्‍यों के उद्यमियों और पर्यटन व्‍यापार से जुड़े व्‍यक्तियों को एक दूसरे से मिलने का अवसर मिलेगा। कार्यक्रम से खरीददारों, मीडिया, सरकारी संस्‍थाओं और अन्‍य भागीदारों के बीच विचार-विमर्श संभव हो सकेगा। अरूणाचल प्रदेश, मिजोरम, नागालैंड, त्रिपुरा तथा सिक्किम के राज्यों सहित भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र पर्यटन के आकर्षणों तथा उत्पादों से समृद्ध है। क्षेत्र के भौगोलिक स्थिति, इसके पेड़-पौधे, पौराणिक परंपराओं तथा जीवन स्तर की समृद्ध धरोहर वाले प्रजातीय समुदाय, इसके त्यौहार, उत्सव, कला और शिल्प अवकाश के दौरान अपनी ओर बरबस आकर्षित करते हैं।

देश के विभिन्न भागों से तथा विश्व के चारों ओर से क्रेता तथा मीडिया प्रतिनिधि इस हाट में हिस्सा ले रहे हैं और पूर्वोत्तर क्षेत्र के विक्रेतओं से रूबरू हो रहे हैं। इस कार्यक्रम में 29 देशों से 66 विदेशी प्रतिनिधि जिसमें भागीदार तथा मीडिया के प्रतिनिधि भी शामिल हैं। इनमें मुख्‍य रूप से ऑस्‍ट्र‍ेलिया, भूटान, ब्रुनेई, कनाडा, चीन, कंबोडिया, साइप्रस, फिजी, जर्मनी, इंडोनेशिया, इटली, जापान, केन्‍या, लाओ पीडीआर, मलेशिया, म्‍यांमा, नेपाल, नीदरलैंड, फिलीपींस, पुर्तगाल, सिंगापुर, स्‍पेन, तंजानिया, थाइलैंड, अमेरिका, ब्रिटेन, वियतनाम, तुर्की और दक्षिण कोरिया शामिल हैं, जिसमें पर्यटन उत्पाद आपूर्तिकर्ता इस क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सीधे क्रेताओं तक पहुंचने में समर्थ होंगे।

विदेशी प्रतिनिधियों के साथ-साथ देश के अन्‍य भागों में पर्यटन उद्योग से जुड़े 50 ‍घरेलू भागीदारों के साथ-साथ पूर्वोत्‍तर राज्‍यों के 86 बिक्रीकर्ता भी भागीदारी करेंगे। कार्यक्रम में पूर्वोत्‍तर राज्‍यों के पर्यटन विभागों के प्रतिनिधि भी अपने अपने राज्‍यों में पर्यटन के प्रमुख आकर्षणों को प्रस्‍तुत करने के साथ-साथ प्रतिनिधिमंडलों से विचार-विमर्श करेंगे।

तीन दिवसीय इस कार्यक्रम में राज्‍य सरकारों द्वारा अपने – अपने राज्‍यों में पर्यटन के प्रमुख आकर्षणों पर प्रस्‍तुति देने के साथ-साथ सांस्‍कृतिक संध्‍या और गुवाहाटी और निकट के क्षेत्रों में प्रमुख पर्यटन स्‍थलों का दौरा और 6 दिसंबर, 2017 को पत्रकार सम्‍मेलन का आयोजन भी किया जाएगा।

इस अवसर पर पूर्वोत्‍तर राज्‍यों के पर्यटन विभागों द्वारा अपने-अपने राज्‍यों के प्रमुख हथकरघा उत्‍पादों का प्रदर्शन भी किया जाएगा। मार्ट के आयोजन के बाद पूर्वोत्‍तर राज्‍यों के दौरे के लिए विदेशी खरीददार प्रतिनिधिमंडलों द्वारा अत्‍याधिक रूचि प्रदर्शित की गई है। इससे इन प्रतिनिधियों को पर्यटन स्‍थलों की जानकारी मिलने के साथ-साथ क्षेत्र में पर्यटन और इससे जुड़े उत्‍पादों संबंधी जागरूकता बढ़ाने में मदद मिलेगी।

अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यटन मार्ट का आयोजन पूर्वोत्‍तर राज्‍यों में बारी-बारी से किया जाता है। इससे पूर्व मार्ट का आयोजन गुवाहाटी, तवांग, शिलांग, गंगटोक और इम्‍फाल में किया जा चुका है।