बलात्कारी बाबा 20 साल की सजा 30 लाख जुर्माना, रो कर मांगी रहम की भीख

1503915304

साध्वियों से बलात्कार के दोषी गुरमीत राम रहीम को केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के विशेष न्यायाधीश जगदीप सिंह ने आज सजा सुना दी। राम रहीम को 20 साल की सजा सुनाई गई है। राम रहीम को रेप के दो मामलों में 10-10 साल की सजा काटनी होगी। साथ ही 30 लाख रुपये जुर्माना भी लगाया गया है। राम रहीम के वकील ने कहा कि हम अवश्य हाईकोर्ट में अपील दायर करेंगे। राम रहीम को दोनों पीडि़तों को 14-14 लाख रुपये देने होंगे। कोर्ट में फैसले के बाद इस पर भी चर्चा हुई कि 376 में जो सजा सुनाई गई है उसके साथ अन्य धाराओं की सजा भी साथ चलेगी या उन धाराओं की सजा अलग से चलेगी। इसके बाद साफ हो गया है कि राम रहीम को बीस साल जेल में रहना पड़ेगा। पहले ऐसी मीडिया रिपोट्र्स सामने आई थी कि राम रहीम को 10 साल की सजा सुनाई गई है।

न्यायाधीश जगदीप सिंह ने यहां सुनारिया जिला जेल में स्थापित अस्थायी अदालत में भारतीय दंड संहिता की धारा 376, 506 और 509 के तहत डेरा प्रमुख को सजा  का फैसला सुनाया। अभियोजन पक्ष ने राम रहीम के लिए उम्रकैद की मांग की थी। वहीं, बचाव पक्ष ने कहा कि राम रहीम एक समाज सेवी हैं। उन्होंने लोगों की भलाई के  लिए बहुत काम किए हैं। इन्हीं का संज्ञान लेते हुए सजा में नरमी बरती जानी चाहिए।दोनों पक्षों को 10-10 मिनट का समय दिया गया। इस अवधि में सीबीआई के वकील और राम रहीम के वकील ने अपना अपना पक्ष रखा। सूत्रों के अनुसार, सजा सुनने से पहले राम रहीम रो पड़े। वे हाथ जोड़कर सजा सुनते रहे। फैसला सुनते ही राम रहीम ने कोर्ट से ही बाहर जाने से इंकार कर दिया। उन्हें जबरन बाहर ले जाया गया।

ये है मामला : यह मामला साल 2002 का है। तब एक साध्वी ने गुमनाम पत्र लिखकर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से इस मामले की जांच की गुहार लगाई थी। पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने इस मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए सीबीआई को जांच के आदेश दिए थे। जांच एजेंसी ने 30 जुलाई 2007 को मामला दर्ज किया था और इस मामले में 18 साध्वियों से पूछताछ की थी, जिनमें से दो ने बलात्कार की बात स्वीकार की थी। इस मामले में छह सितंबर 2008 को सुनवाई शुरू हुई। गुरमीत राम रहीम ने सुनवाई के दौरान बलात्कार के आरोप को झूठा करार दिया और कहा कि वह शारीरिक संबंध बनाने में ‘सक्षमÓ नहीं हैं। गत 25 अगस्त को हुई हिंसा में 38 लोग मारे गये थे। प्रशासन ने एहतियात के तौर पर अगले 48 घंटे के लिए हरियाणा में इंटरनेट और मोबाइल सेवाएं निलंबित कर दी थी। पंजाब में भी 29 अगस्त तक इंटरनेट मोबाइल सेवाओं को निलंबित रखा गया है। सुनारिया जेल के आसपास चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बावजूद किसी भी आपात स्थिति में पुलिस को गोली मारने के आदेश दिये गये हैं। सेना को भी सतर्क रखा गया है। हरियाणा के अन्य जिलों में भी सुरक्षा व्यवस्था मजबूत की गयी है। पंजाब के कई क्षेत्रों में पुलिस के साथ अन्य सुरक्षा बलों को भी तैनात किया गया हैं।

About Youth Darpan

FOUNDER AND CEO OF YD, TRILOK SINGH. MA. POLITICAL SCIENCE, KIRORI MAL COLLEGE, DU (2015-17). CEO/OWNER IASmind.COM. VSSKK, AN NATIONAL LEVEL, NGO. IT AND SECURITY SEVA A2Z, SHOPPING MALL 12DECTRILOK.ORG.IN.
View all posts by Youth Darpan →