14 सितंबर को मोदी-आबे करेंगे बुलेट ट्रेन परियोजना का शिलान्यास

14 सितंबर को मोदी-आबे करेंगे बुलेट ट्रेन परियोजना का शिलान्यास

14 सितंबर को मोदी-आबे करेंगे बुलेट ट्रेन परियोजना का शिलान्यास

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे 14 सितंबर को देश की पहली एवं बहुप्रतीक्षित बुलेट ट्रेन परियोजना की आधारशिला संयुक्त रूप से अहमदाबाद में रखेंगे। रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने आज यहां यूनीवार्ता से बातचीत में इसकी पुष्टि की। उन्होंने कहा कि श्री मोदी और जापान के प्रधानमंत्री 14 सितंबर को अहमदाबाद में इस परियोजना का शिलान्यास करेंगे। आधिकारिक सूत्रो के अनुसार जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे का इस माह 12 सिंतबर को भारत में आने का कार्यक्रम है। दोनों नेता 14 सितंबर को भारतीय रेल इतिहास के इस महत्वपूर्ण अध्याय का शुभारंभ करेंगे। दोनों नेता साबरमती में बुलेट ट्रेन के यार्ड एवं स्टेशन तथा वडोदरा में बनने वाले प्रशिक्षण केन्द्र का शिलान्यास करेंगे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कार्यभार संभालने के दो दिन बाद ही इस परियोजना की समीक्षा की है। परियोजना को अमल में लाने के लिये वडोदरा में एक प्रशिक्षण केन्द्र भी बनाया जाएगा जहां जापानी रेलवे पेशेवर भारतीय हाईस्पीड रेल निगम के कर्मचारियों को प्रशिक्षित करेंगे। मुंबई अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना जापान की शिन्कान्सेन तकनीक पर आधारित है, दोनों देशों के संयुक्त उपक्रम के तौर पर बनने वाली करीब 97 हज़ार 636 करोड़ रुपये की लागत की इस हाईस्पीड ट्रेन परियोजना के लिये जापान वित्तपोषण कर रहा है, मुंबई अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना के अध्ययन के लिये जापान एवं भारत के बीच 2013 में करार हुआ था लेकिन भारत ने जापान के साथ इस परियोजना के निर्माण एवं वित्तपोषण का समझौता मोदी सरकार के कार्यकाल में 2015 में किया था।

इस परियोजना की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट के अनुसार 508 किलोमीटर की हाईस्पीड लाइन का निर्माण 2018 से शुरू हो जायेगा और स्टेशनों एवं अन्य सभी सुविधाओं का निर्माण पांच साल में पूरा हो जायेगा। बुलेट ट्रेन परियोजना को मेक इन इंडिया कार्यक्रम से भी जोड़ा गया है। जापान इसके लिये प्रौद्योगिकी हस्तांतरण भी करेगा। दोनों देशों के बीच हुए समझौते के मुताबिक मुंबई का स्टेशन बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लैक्स में बनाया जाएगा। बुलेट ट्रेन वहां से सुरंग के रास्ते महानगर से बाहर निकलेगी और धरातल पर कुछ ऊंचाई पर निर्मित पुश्ते पर बनी लाइन पर दौड़ते हुए अहमदाबाद पहुंचेगी। वहां मुख्य स्टेशन अहमदाबाद रेलवे स्टेशन होगा जहां से यात्री आगे की गाडिय़ां पकड़ सकेंगे।

श्री मोदी ने गत वर्ष नवंबर में जापान यात्रा के दौरान श्री आबे के साथ टोक्यो से ओसाका के बीच शिन्कान्सेन हाईस्पीड ट्रेन से यात्रा की थी और बुलेट ट्रेन बनाने वाली कंपनी कावासाकी के संयंत्र का भी दौरा किया था।

Youth Darpan

Founder and CEO, Trilok Singh.
MA. POL.SCI (2015-17).
CEO/Owner at IASmind.com

Related Posts

Create Account



Log In Your Account