Youth Darpan December 6, 2017
श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने 22वें एएचडब्‍ल्‍यूपी सम्‍मेलन का उद्घाटन किया
माननीय स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण राज्‍य मंत्री श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने हाल ही में नई दिल्‍ली में एशियन हार्मोनाइजेशन वर्किंग पार्टी (एएचडब्‍ल्‍यूपी) के 22वें सम्‍मेलन का उद्घाटन किया। पांच दिवसीय सम्‍मेलन स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय के सहयोग से केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) और राष्‍ट्रीय औषधि नियामक प्राधिकरण (एनडीआरए) द्वारा आयोजित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम का मुख्‍य उद्देश्‍य एशिया और उसके बाहर के क्षेत्रों में चिकित्‍सीय उपकरणों के नियमन के अभिसरण और एकरूपता के लिए दृष्‍टिकोण विकसित करने हेतू सुझाव देना तथा नियामकों एवं इस उद्योग के बीच ज्ञान तथा विशेषज्ञता के आदान-प्रदान में सुविधा प्रदान करना है।

30 सदस्‍य देशों तथा उद्योग के सदस्‍यों के राष्‍ट्रीय नियामकों की एशियन हार्मोनाइजेशन वर्किंग पार्टी (एएचडब्‍ल्‍यूपी) का गठन 1999 में स्‍वैच्‍छिक लाभ निरपेक्ष संगठन के तौर पर किया गया था। इसका उद्देश्‍य अंतर्राष्‍ट्रीय चिकित्‍सीय उपकरण नियामक मंच (आईएमडीआरएफ) द्वारा जारी दिशा-निर्देश के अनुरूप एशिया और अन्‍य क्षेत्रों में चिकित्‍सीय उपकरणों के नियमन पर नियामक एकरूपता को बढ़ावा देना है। एएचडब्‍ल्‍यूपी आईएमडीआरएफ, डब्‍ल्‍यूएचओ, अंतर्राष्‍ट्रीय मानकीकरण संगठन (आईएसओ) जैसे संबंधित अंतर्राष्‍ट्रीय संगठनों के साथ मिलकर कार्य करता है।

सरकार का देश में चिकित्‍सीय उपकरण क्षेत्र में मेक इन इंडिया, अनुसंधान और विकास (आर एंड डी) तथा नवाचार को बढ़ावा देने के लिए पारिस्‍थितिकी तंत्र है। इसके अतिरिक्‍त स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने भी वैश्‍विक नियामक तरीकों के साथ बेहतर एकरूपता और पारदर्शी, पूर्वानुमान तथा सुदृढ़ विनियामक प्रणाली के लिए हाल ही में नियमन अर्थात् चिकित्‍सीय उपकरण नियम, 2017 लागू किया है। इससे चिकित्‍सीय उपकरणों की सुरक्षा, गुणवत्‍ता और बेहतर नतीजा सुनिश्‍चित होगा तथा देश में इन विट्रो जांच उपकरणों का निर्माण किया जा रहा है। इसके अलावा सरकार ने पहले से ही मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए चिकित्‍सीय उपकरण क्षेत्र में शत प्रतिशत प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश(एफडीआई) की अनुमति दी हुई है। सुदृढ नियामक खाके के साथ मेक इन इंडिया के लिए संयुक्‍त प्रयासों से सरकार ने ऐसे पारिस्‍थितिकी तंत्र तैयार करने की कोशिश की है, जिससे सभी हितधारकों को लाभ मिले।

ऐसे प्रयासों के जरिए सरकार की मंशा विस्‍तृत और विविध भौगोलिक इलाकों में नागरिकों तक सर्वोत्‍तम गुणवत्‍ता मानकों के किफायती चिकित्‍सीय उपकरण उपलब्‍ध करवाना है।

उद्घाटन कार्यक्रम में स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय में सचिव श्रीमती प्रीति सुदन, अपर सचिव (स्‍वास्‍थ्‍य) डॉ. आर.के. वत्‍स, मंत्रालय, सीडीएससीओ, एनडीआरए के अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारी और अन्‍य देशों के गणमान्‍य तथा विकास साझेदार के प्रतिनिधि उपस्‍थित थे।