DUSU चुनाव: 32 कॉलेजों में 44 फीसदी तक वोटिंग हुई

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) में आज छात्र संघ चुनाव होने वाले हैं। चुनावों के लिए सभी छात्र संगठनों द्वारा किया जा रहा प्रचार सोमवार सुबह खत्म हुआ। प्रचार खत्म होने से कुछ समय पहले तक भी संगठनों ने छात्रों को लुभाने की कोशिश की।

वहीं सुबह आठ बजे के बाद ही नो कैंपेनिंग डे होने के कारण छात्र संगठनों ने सोशल मीडिया का रुख किया और वहां जोर-शोर से अपने प्रत्याशियों का प्रचार किया।

इसके साथ ही समर्थकों ने भी सोशल मीडिया के जरिए अपने प्रत्याशी के पोस्ट शेयर किए। सोशल मीडिया पर चले प्रचार के दौरान इस बार उम्मीदवार, व उनके समर्थकों ने छात्रों से उनके समर्थन में वोट देने की अपील की।

गौरतलब है कि इस बार डूसू चुनाव में उम्मीदवारों ने पोस्टर, पर्चे व डोर टू डोर कैंपेन के साथ सोशल मीडिया के माध्यम से मतदाताओं तक अपनी बात पहुंचाने की कोशिश की। छात्र संघ चुनाव प्रचार की ये जंग जमीनी स्तर पर प्रचार थमने के बाद से सोशल मीडिया पर तेज हो गई है।

एबीवीपी ने चलाया मस्ट वोट अभियान

कैंपेन खत्म होने के बाद एबीवीपी ने सोशल मीडिया पर मस्ट वोट अभियान चलाया। सोशल मीडिया पर छाते हुए एबीवीपी के प्रत्याशियों ने व्हाट्स एप, फेसबुक, ट्वीटर आदि सभी जगह प्रचार किया। सोशल मीडिया पर शेयर किए गए वीडियो में भी एबीवीपी पैनल को विजयी बनाने की अपील की गई।

एबीवीपी के राष्ट्रीय मीडिया संयोजक साकेत बहुगुणा ने बताया कि सोशल मीडिया के जरिए एबीवीपी प्रत्याशियों ने छात्रों तक अपनी बात पहुंचाने के साथ, उनसे मतदान में भाग लेने की भी अपील की। एबीवीपी ने सोमवार को फेसबुक व अन्य सोशल मीडिया पेजों पर भी जरूरी मतदान को लेकर जागरूकता फैलाने का काम किया।

एनएसयूआई ने किया मोदी की स्पीच का विरोध

डूसू चुनाव के साथ ही एनएसयूआई ने सोमवार को छात्रों को कही गई स्पीच का भी विरोध किया। एनएसयूआई ने इसे सीधेतौर पर प्रधानमंत्री की स्पीच को लेकर एबीवीपी पर निशाना साधा। एनएसयूआई की ओर से आधिकारिक बयान में कहा गया कि मोदी की स्पीच से साफ तौर पर पता चलता है कि उनका और उनकी छात्र इकाई की विचारधारा में फर्क है।

काउंसलर पोस्ट के लिए भी मतदान

डीयू में डूसू पैनल के साथ ही कॉलेज काउंसलर पोस्ट के लिए आज चुनाव होना है। डीयू के मॉर्निंग कॉलेजों में सुबह साढ़े आठ से दोपहर एक बजे और ईवनिंग कॉलेजों में दोपहर बाद तीन बजे से शाम साढ़े सात बजे तक मतदान किया जा सकेगा।

Powered by TRILOKSINGH.ORG