Youth Darpan November 27, 2017
Youth Darpan, Trilok Singh. 
एनसीसी के स्थापना दिवस के अवसर पर देशभर में एनसीसी कैडेटों ने मार्च आयोजित किए गए। विश्व का सबसे बड़ा वर्दीधारी युवा संगठन, राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) आज अपना 69वां स्थापना दिवस मना रहा है। इस अवसर पर रक्षा सचिव श्री संजय मित्रा और एनसीसी के कार्यवाहक महानिदेशक मेजर जनरल बी.के. गुहा ने कल समूचे एनसीसी संगठन की ओर से अमर जवान ज्योति, इंडिया गेट पर देश के लिए सर्वोच्च बलिदान देने वाले जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

एनसीसी कैडट सामाजिक प्रयोजनों और समुदाय विकास गतिविधियों में अग्रणी योगदान करते हैं। खेलों और साहसिक खेलों में इसके कैडेटों ने राष्ट्र और संगठन का गौरव बढ़ाया है। एनसीसी कैडेटों ने राष्ट्रीय निशानेबाजी और घुड़सवारी और अन्य प्रतियोगिताओं में भी अपने जौहर दिखाए।

इस वर्ष एनसीसी द्वारा स्वच्छता अभियान में योगदान करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्कृष्टता प्रमाणपत्र प्रदान किया। डिजिटीकरण अभियान और अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर जागरूकता फैलाने में भी एनससी ने निर्णायक भूमिका निभाई।

एनसीसी का आदर्श वाक्य

    11 अगस्त 1978 को हुई 11वीं केन्द्रीय सलाहकार समिति (सीएसी) की बैठक में कोर के आदर्श वाक्य होने की आवश्यकता पर चर्चा की गई। “कर्तव्य और अनुशासन”, “कर्तव्य, एकता और अनुशासन”, “कर्तव्य और एकता”, “एकता और अनुशासन” जैसे आदर्श वाक्य सुझाए गए थे। 12 अक्टूबर 1980 को हुई सीएसी की 12वीं बैठक में “एकता और अनुशासन” को एनसीसी का आदर्श वाक्य चुनने का अंतिम निर्णय लिया गया।

उद्देश्य

Source: http://nccindia.nic.in

राष्ट्रीय कैडेट कोर के लाभ

केन्द्र सरकार द्वारा एन सी सी कैडेटों को दिए जाने वाले प्रोत्साहन

1    रक्षा सेवाओं और तटरक्षक बल में भर्ती

अधिकारी

अफ़सर अकादमियों में प्रवेश के लिए रिक्तियां निम्नलिखित प्रकार से हैं –

प्रशिक्षण स्थापना एक वर्ष में पाठ्यक्रमों की संख्या प्रति पाठ्यक्रम रिक्तियां एक वर्ष में कुल रिक्तियां
अफ़सर प्रशिक्षण अकादमी (ओ टी ए) चेन्नई

दो

एस डी – 50

एस डब्ल्यू – 04

एस डी – 100

एस डब्ल्यू – 08

भारतीय सेना अकादमी (आई एम ए)

दो

एस डी- 25 एस डी – 50

 

नौसेना अकादमी

दो

एस डी- 06 एस डी – 12

 

वायुसेना अकादमी

(ए एफ ए)

दो

प्रत्येक पाठ्यक्रम में रिक्तियों का 10%

सैनिक

  1. एन सी सी के ‘सी’ सर्टिफिकेट धारक अभ्यर्थी जो सैनिक (जीडी) में भर्ती होना चाहते है उनको लिखित परीक्षा भाग-I देने से छूट है तथा योग्यता क्रम सूची में उन्हें सबसे ऊपर रखा जाएगा। लेकिन सैनिक (क्लर्क, एस के टी/टेक/एन ए) के लिए लिखित परीक्षा के भाग-I में छूट तो नहीं मिलेगी, लेकिन संपूर्ण योग्यता क्रम सूची में स्थान पाने के लिए उन्हें लिखित परीक्षा के कुल प्राप्तांक का 10% अतिरिक्त अंक (बोनस) दिये जाएंगे।
  2. जहां तक एन सी सी के ‘ए’  और ‘बी’ सर्टिफिकेट वाले अभ्यर्थियों का संबंध है उम्मीदवार की योग्यता क्रम सूची में समग्र सुधार के लिए निम्नलिखित प्रकार से प्रतिशत अंक बोनस के रुप में दिये जाएंगे:-
    1. सैनिक सामान्य ड्यूटी श्रेणी (जीडी)- शारीरिक एवं लिखित परीक्षा में प्राप्त कुल अंकों के आधार पर एन सी सी ‘बी’ सर्टिफिकेट वालों को 8% एवं        ‘ए’ सर्टिफिकेट वालों को 5% बोनस अंक दिए जाएंगे।
    2. सैनिक टेक/एन ए/एस के टी/क्लर्क उपरोक्त पैरा 3 (ख)(i) में दिए गए अभ्यर्थी द्वारा केवल लिखित परीक्षा में कुल प्राप्तांक पर आधारित प्रतिशत के अनुसार बोनस अंक होगा।

टिप्पणी: यह स्पष्ट किया जाता है कि यदि कोई अभ्यर्थी भूतपूर्व/सेवारत सैनिक का पुत्र है तथा एनसीसी सर्टिफिकेट धारक दोनो है, तो वह किसी एक तरह की छूट का ही हकदार होगा।

नाविक: नाविक की सीधी भर्ती के लिए विभिन्न एन सी सी सर्टिफिकेट धारकों की विशेष अंक सुविधाएं निम्नलिखित है:-

  1. सर्टिफिकेट  ‘ए’ – 2
  2. सर्टिफिकेट  ‘बी’ – 4
  3. सर्टिफिकेट  ‘सी’ – 6

टिप्पणीप्रत्येक श्रेणी के लिए अंको पर आधारित विशेष अंकों में अनुपातिक छूट इस प्रकार है:-

वायुसैनिक

  1. ‘सी’ सर्टिफिकेट – 5 अंक
  2. ‘बी’ सर्टिफिकेट – 4 अंक
  3. ‘ए’ सर्टिफिकेट – 3 अंक
  4. ‘ ए ‘ सर्टिफिकेट भाग I एवं II – 3 अंक
  5. ‘ए’ सर्टिफिकेट केवल भाग I – 2 अंक

तटरक्षक

सहायक कमांडेंट की भर्ती के लिए आवेदन के समय कट-ऑफ प्रतिशत में एन सी सी ‘सी’ सर्टिफिकेट (‘ए’ ग्रेड) धारकों के लिए स्नातक परीक्षा में प्राप्त कुल अंकों में से अधिकतम 5% अंक की छूट दी जाती है।

एनसीसी में छात्रा कैडेट अनुदेशक

सभी रिक्तियां स्नातक उपाधि और ‘सी’ सर्टिफिकेट धारक एनसीसी छात्रा कैडेटों के लिए आरक्षित हैं।

राज्य सरकारों/संघ राज्य क्षेत्रों द्वारा एनसीसी कैडेटों

को दिये जानेवाले प्रोत्साहन

1. इसके अलावा, विभिन्न राज्य सरकारें/संघ राज्य क्षेत्र, पेशेवरव्यवसायिक कॉलेजों में एनसीसी कैडेटों के लिए स्थान रखते हैं और रोजगार में भी प्रोत्साहन देते हैं। सर्वोत्कृष्ट एनसीसी कैडेटों को राज्य सरकारें छात्रवृत्ति एवं नगद प्रोत्साहन भी प्रदान करती हैं।

May Read;