अमेरिकी कार्रवाई से पहले चीन बना पाकिस्तान का पैरोकार, दिया संप्रभुता का हवाला

अमेरिकी कार्रवाई से पहले चीन बना पाकिस्तान का पैरोकार, दिया संप्रभुता का हवाला



Write a Post

चीन ने कहा है कि अफगानिस्तान में पाकिस्तान की भूमिका को देखते हुए अमेरिका को उसकी सुरक्षा चिंताओं के बारे में सोचना चाहिए। चीन के शीर्ष राजनयिक यांग जिएची ने अमेरिकी विदेश मंत्री रैक्स टिलेरसन को फोन पर यह आग्रह किया है। गौरतलब है कि सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि पाकिस्तानी धरती का आतंकवादियों के लिए सुरक्षित पनाहगार के तौर पर इस्तेमाल किए जाने के मामले में अमेरिका अब ज्यादा दिन चुप नहीं बैठेगा और पाकिस्तान को इस मामले में कड़े कदम उठाने की जरूरत हैं।

उन्होंने कहा था कि अफगानिस्तान में अमेरिका को खुला युद्ध लडऩा पड़ रहा है और वहां अतिरिक्त अमेरिकी सैनिक भेजे जाएंगे। चीनी मीडिया ने यांग के हवाले से बताया कि उन्होंने टिलेरसन से फोन पर बातचीत कर पाकिस्तानी पक्ष की चिंताओं पर ध्यान देने को कहा। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में चीन अमेरिका के साथ मिलकर काम करने का इच्छुक हैं और इस क्षेत्र में शांति एवं स्थिरता को बनाए रखने के लिए संयुक्त प्रयास का पक्षधर है। उन्होंने टिलेरसन से कहा ” अफगानिस्तान में पाकिस्तान की भूमिका को भी हमें ध्यान में रखना होगा और इसे देखते हुए उसके हितों, सुरक्षा चिंताओं तथा संप्रभुता का भी सम्मान करना होगा।”




मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने मंगलवार को पाकिस्तानी विदेश सचिव तहमीना जांजुआ से मुलाकात की और आतंकवाद पर काबू पाने के पाकिस्तानी प्रयासों तथा चीन पाकिस्तानी आर्थिक कोरिडोर में उसकी भूमिका की सराहना की। वांग ने कहा कि मौजूदा जटिल और बदलते क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय हालातों को देखते हुए चीन पाकिस्तान संबंंधों की रणनीतिक अहमियत है।

Youth Darpan

Founder and CEO, Trilok Singh.
MA. POL.SCI (2015-17).
CEO/Owner at IASmind.com

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account